किसी विशेष टास्क को पूरा करने के लिए एक डेवलपर या फिर कंपनी द्वारा Application software का निर्माण किया जाता है। बता दें कि एप्लीकेशन प्रोग्राम को नोर्मल उद्देश्य को पूरा करने के लिए क्रिएट किया जाता है जैसे कि प्रोडक्शन का लेखा-जोखा करने के लिए, नॉर्मल बिल बुक तैयार करने के लिए अथवा एकाउंटिंग से संबंधित काम को करने के लिए या फिर खाता बही तैयार करने के लिए।

मुख्य तौर पर एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर का उपयोग डिमांड के आधार पर क्रिएट किए जाते हैं। अधिकतर एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर की डिमांड बैंक, हॉस्पिटल, इंश्योरेंस कंपनी और पब्लिकेशन करते हैं।

एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर का उपयोग

प्रोग्राम तथा प्रोग्राम्स का एक ऐसा समूह जिनका उपयोग एंड यूजर्स द्वारा किया जाता है वह एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर कहलाते हैं। दूसरे शब्दों में कंप्यूटर पर आधारित जिन मुख्य कामों को करने के लिए प्रोग्राम्स का इस्तेमाल किया जाता है उन्हें एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर कहा जाता है। यहाँ से आप एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर कौन सा है पढ़ सकते है।

Application Software ka upayog

Application Software की खासियत है कि हम कभी भी आवश्यकता पड़ने पर Application सॉफ्टवेयर को इंस्टॉल करके हम चला सकते हैं और आवश्यकता खत्म हो जाने पर हम उसे अनइनस्टॉल करके अपने डिवाइस से रिमूव कर सकते हैं। यूजर की इच्छा के मुताबिक भिन्न भिन्न एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर क्रिएट किए जाते हैं। इस आर्टिकल में आप एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर से जुड़ी खास बातें जानेंगे।

एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल क्या है?

विभिन्न प्रकार के कार्यों को पूरा करने के लिए अलग-अलग प्रकार के एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर को डेवलपर कंपनी या फिर डेवलपर व्यक्ति के द्वारा तैयार किया जाता है। बता दें कि, जिस काम को करने के लिए जिस एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर को तैयार किया जाता है उस पर उसी काम को किया जा सकता है, उसके अलावा दूसरा कोई काम उसके ऊपर नहीं किया जा सकता है।

हालांकि इसके अलावा कुछ ऐसे मल्टी परपज वाले एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर भी होते हैं जिस पर हम एक साथ ही कई प्रकार के कामों को कर सकते हैं। जैसे कि पेटीएम।

पेटीएम पर हम कई काम एक साथ कर सकते हैं। इसके अलावा एमएस वर्ड जैसे प्रोसेसर प्रोग्राम पर हम सिर्फ टेक्स्ट की एडिटिंग, टेक्स्ट की टाइपिंग, उसकी फॉर्मेटिंग जैसे काम पूरे कर सकते हैं, वही अकाउंटिंग सॉफ्टवेयर टैली पर हम सिर्फ अकाउंटिंग से रिलेटेड वर्क को ही कर सकते हैं।

इसके अलावा एडिटिंग सॉफ्टवेयर फोटो शॉप पर हम सिर्फ फोटो एडिटिंग करने का काम ही कर सकते हैं। एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर के अन्य कार्य निम्न प्रकार से हैं।

  • वर्ड प्रोसेसिंग एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल करके हम टाइपिंग, डॉक्यूमेंट की एडिटिंग, फॉर्मेटिंग जैसे काम को कर सकते हैं।
  • स्प्रेडशीट एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल करके हम वित्तीय डेटा को रिकॉर्ड कर सकते हैं, उसकी कैलकुलेशन कर सकते हैं और उसकी कंपैरिजन भी कर सकते हैं।
  • डेटाबेस मैनेजमेंट एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल हम डाटा को मनीप्लेट करने के लिए, डाटा का मैनेजमेंट करने के लिए और डाटा को स्टोर करने के लिए कर सकते हैं। माइक्रोसॉफ्ट एक्सेस फाइल इसका प्रमुख उदाहरण हैं।
  • प्रेजेंटेशन एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर का यूज करके हम इमेज, ऑडियो, वीडियो और टेक्स्ट का इस्तेमाल करके ग्राफिकल प्रस्तुति प्रस्तुत कर सकते हैं। इसकी सहायता से हम अपने किसी भी प्रोजेक्ट रिपोर्ट को काफी अच्छे से तैयार कर सकते हैं। माइक्रोसॉफ्ट पावरप्वाइंट इसका प्रमुख उदाहरण है।
  • एकाउंटिंग एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल करके हम फाइनेंस और अकाउंटिंग से संबंधित कामों को कर सकते हैं। इसके अंदर हम फाइनेंशियल डाटा को स्टोर कर सकते हैं, साथ ही साथ इसका इस्तेमाल वर्कर की पेमेंट ट्रांजैक्शन को करने के लिए भी किया जाता है। टैली अकाउंटिंग सॉफ्टवेयर व्यापार इसके प्रमुख उदाहरण है।
  • डेस्कटॉप पब्लिशिंग एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर का यूज न्यूज़लेटर और उपयोग पत्र बनाने के लिए किया जाता है। एडोब इंडिजाइन, एडोब पेजमेकर, माइक्रोसॉफ्ट पब्लिशर इसके प्रमुख उदाहरण है।
  • ग्राफिक डिजाइनिंग एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर का यूज 3D और 2D पिक्चर को बनाने के लिए अथवा चित्र को बनाने के लिए किया जाता है।एडोब इलस्ट्रेटर, एडोब फोटोशॉप, कोरल ड्रॉ और ऑटोकैड इसके प्रमुख उदाहरण है।
  • मल्टीमीडिया एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर का यूज़ वीडियो फाइल, ऑडियो फाइल को रिकॉर्ड करने के लिए होता है अथवा चलाने के लिए होता है। विंडोज मल्टीमीडिया प्लेयर, वीएलसी मीडिया प्लेयर, मीडिया मंकी और आइट्यून इसके प्रमुख उदाहरण है।

एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर के कितने प्रकार हैं?

निचे आपको एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर के प्रकार के बारे मं बताया गया है।

  • वर्ड प्रोसेसिंग एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर
  • प्रेजेंटेशन एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर
  • अकाउंटिंग एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर
  • स्प्रेडशीट एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर
  • डेटाबेस मैनेजमेंट एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर
  • डेस्कटॉप पब्लिशिंग एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर
  • ग्राफिक डिजाइनिंग एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर
  • मल्टीमीडिया एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर

एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर की विशेषता क्या है?

नीचे आपको एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर की कुछ विशेषताओं के बारे में जानकारी प्रोवाइड की गई है।

उपयोगकर्ताओं की आवश्यक्ता को देखते हुए एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर को क्रिएट किया जाता है।

सभी प्रकार के फंक्शन, टूल और पूरी सामग्री हमें एक सिंगल विंडो पर एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर के अंदर प्राप्त हो जाती है जिसके कारण हम जल्दी से अपने काम कर लेते हैं। इस प्रकार हमारा समय बचता है।

जिन लोगों को एप्लीकेशन के बारे में ज्यादा जानकारी नहीं होती है उन लोगों के लिए एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर फायदेमंद साबित होता है, क्योंकि यह एक नॉर्मल यूजर के काम को आसान बनाने में उनकी काफी सहायता करता है।

कुछ एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर ऐसे भी होते हैं जिसमें आवश्यकता के हिसाब से Add-ons की सर्विस भी यूजर को प्राप्त हो जाती है।

एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर को चलाना बहुत ही आसान होता है क्योंकि इसका निर्माण करते समय इस बात का ध्यान रखा जाता है कि यह User-Friendly हो।

एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर क्या है?

एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर एक ऐसा सॉफ्टवेयर होता है जिसे यूजर की किसी विशेष डिमांड को पूरा करने के लिए या फिर यूजर के किसी विशेष काम को पूरा करने के लिए डिजाइन और तैयार किया जाता है। जिस एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर को जिस काम के लिए बनाया जाता है उसमें हम उसी काम को कर सकते हैं, उसके अलावा कोई दूसरा काम हम नहीं कर सकते।

एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर के कितने प्रकार हैं?

Application Software के अनेक उदाहरण हैं जिनमें से वेब ब्राउज़र, MS -Word इत्यादि कुछ प्रमुख है।

निष्कर्ष

तो साथियों इस लेख को पढ़ने के बाद एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर का उपयोग और यह क्यों जरूरी है? अब आप भली-भांति जान चुके होंगे। अगर आपको यह पोस्ट पसंद आई है तो ज्यादा से ज्यादा शेयर करना ना भूलें। एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर कौन-कौन से को ले कर अगर आपके मन में कुछ डाउट है तो निचे कमेंट के माध्यम से हमें बतेयें।

Previous articleएप्लीकेशन सॉफ्टवेयर क्या है?
Next articleएप्लीकेशन सॉफ्टवेयर के कार्य
में एक कंप्यूटर टीचर हूँ और कंप्यूटर साइंस में मास्टर डिग्री किया हुआ है. मुझे टेक्नोलॉजी से संबंधित चीजें बहुत ही दिलचस्प लगता है. इसी कंप्यूटर एडिशन ब्लॉग के जरिये में कंप्यूटर कोर्स को सरल तरीको से समझाने की कोसिस करती हूँ.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here