कंप्यूटर एक ऐसी मशीन है जिससे आप हर जगह देख सकते हैं. आजकल कंप्यूटर बहुत ही कॉमन हो गया है. हर छोटे-बड़े काम को करने के लिए कंप्यूटर का उपयोग किया जाता है. कंप्यूटर का इस्तेमाल करके लोग अपने काम को बहुत आसानी से कम समय में पूरा कर लेते हैं. आप शायद ऐसा करते होंगे! लेकिन क्या आपको पता है कंप्यूटर कैसे कार्य करता है?

क्योंकि कंप्यूटर का उपयोग हम सभी लोग अपने हिसाब से करते हैं कोई कंप्यूटर का बहुत ही कम इस्तेमाल करता है तो कोई बहुत ही ज्यादा इस्तेमाल करता है कंप्यूटर का उपयोग लोगों की आवश्यकता के ऊपर निर्भर करता है लेकिन क्या आपने सोचा है कि कंप्यूटर किस तरह से काम करता है?

अगर हां! तो इस पोस्ट कंप्यूटर कैसे कार्य करता है को पढ़कर आप कंप्यूटर के विषय में सभी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं. इस पोस्ट में आपको कंप्यूटर के कार्य के विषय में बहुत ही सरल और आसान भाषा में बताया गया है. साथ ही कंप्यूटर से जुड़े अन्य बातों की जानकारी भी आपको स्पष्ट में मिल जाएगी इसलिए इसे पूरा जरूर पढ़ें.

computer kaise karya karta hai

कंप्यूटर कैसे काम करता है?

कंप्यूटर इनपुट और आउटपुट डिवाइस के मदद से उपयोगकर्ता द्वारा दिए काम को करता है. कंप्यूटर में किसी भी कार्य को करने के लिए यूजर सबसे पहले इनपुट डिवाइस जैसे कीबोर्ड, माउस, स्कैनर की मदद से अपना इनपुट डाटा, इंफॉर्मेशन और प्रोग्राम कंप्यूटर में डालते हैं. फिर कंप्यूटर यूजर द्वारा दिए गए इंफॉर्मेशन, डाटा, प्रोग्राम, को अपने प्रोसेसर के मदद से दिए गए काम को पूरा करता है.

और फिर कार्य करने के बाद कंप्यूटर रिजल्ट को आउटपुट डिवाइस जैसे मॉनिटर, प्रिंटर के मदद से यूजर को दिखा देता है. यूजर द्वारा दिए गए इंफॉर्मेशन और डेटा को लंबे समय तक स्टोर करके रखने के लिए कंप्यूटर इन डाटा को हार्ड डिस्क और अन्य स्टोरेज डिवाइस के मदद से स्टोर कर लेता है.

कंप्यूटर का कार्य

Input Device (Input data/Information/Program) कंप्यूटर (Data Process) Output device (Result Show).

कंप्यूटर कौन कौन से काम करता है?

कंप्यूटर एक ऐसा मशीन है जो हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर डिवाइस से मिलकर बना होता है और इन्हीं दो डिवाइस के मदद से कंप्यूटर सभी काम करता है. कंप्यूटर इनपुट डिवाइस के मदद से यूजर द्वारा दिए जाने वाले डाटा को प्राप्त करता है. डाटा को रिसीव करने के बाद कंप्यूटर फिर उस डाटा को प्रोसेस करता हैं और फिर उस डाटा के रिजल्ट को यूजर को आउटपुट डिवाइस के मदद से दिखाता है. यहाँ से आप कंप्यूटर कैसे चलाते हैं पढ़ सकते है.

इस तरह से कंप्यूटर के द्वारा दिए किसी भी कार्य को आसानी से बस कुछ ही सेकंड में पूरा कर देता है. इन्हीं कुछ स्टेप्स को फॉलो करके कंप्यूटर ना सिर्फ शिक्षा के क्षेत्र में अपनी भूमिका निभाता है बल्कि science, business, medicines और entertainment के क्षेत्र में भी उपयोग किया जाता है.

कंप्यूटर के कितने भाग होते हैं?

कंप्यूटर उपयोगकर्ता द्वारा दिए गए निर्देशों को पूरा करने के लिए अपने सभी भागों का प्रयोग करता है. इन सभी भागों के बिना कंप्यूटर अपना कार्य ठीक से नहीं कर सकता है. कंप्यूटर के मुख्यतः 5 भाग होते हैं.

Input device – इनपुट डिवाइस कंप्यूटर का एक बहुत ही जरूरी भाग है. इनपुट डिवाइस के मदद से यूजर कंप्यूटर में निर्देशों को डाल सकते हैं. इनपुट डिवाइस का सबसे बड़ा उदाहरण keyboard, mouse, scanner. इन्हीं उपकरणों के माध्यम से कंप्यूटर यूजर के निर्देश को ग्रहण करता है.

System unit – सिस्टम यूनिट हर कंप्यूटर का अलग-अलग होता है और यह कंप्यूटर का प्रोसेसर माना जाता है. System unit के मदद से कंप्यूटर द्वारा दिए गए निर्देश को प्रोसेस करते हैं.

Memory – कंप्यूटर यूजर द्वारा दिए गए निर्देश को प्रशस्त करने के बाद उस निर्देश को लंबे समय तक बनाए रखने के लिए अपने मेमोरी में सेव कर लेता है. मेमोरी कंप्यूटर का एक बहुत ही जरूरी हिस्सा है.

Storage unit – स्टोरेज यूनिट भी कंप्यूटर के मुख्य हिस्सों में से एक हैं. कंप्यूटर इन स्टोरेज यूनिट में यूजर द्वारा दिए गए निर्देशों के रिजल्ट को सेव करके रखते हैं. ताकि बाद में यूजर फिर से उस निर्देशों का इस्तेमाल कर सकें.

Output device – आउटपुट डिवाइस कंप्यूटर का सबसे जरूरी हिस्सा है बिना इस हिस्से के कंप्यूटर बेकार है. यूजर कंप्यूटर में जो भी निर्देश डालता है, कंप्यूटर उस इंफॉर्मेशन को Process करके आउटपुट डिवाइस के मदद से ही दिखाता है. Monitor और Printer का सबसे मुख्य आउटपुट डिवाइस है.

कंप्यूटर के 5 मूल कार्य कौन से हैं?

  • कंप्यूटर उपयोगकर्ता द्वारा किसी भी काम को इन्हीं पांच मुख्य कार्य द्वारा पूरा करता है. कंप्यूटर के इन 5 मूल कार्य की जानकारी नीचे दी गई है –
  • इनपुट डिवाइस के मदद से Data को ग्रहण करना.
  • उपयोगकर्ता द्वारा दिए गए Data को Store करना.
  • Store करने के बाद Data को प्रोसेस करना.
  • फिर Data के रिजल्ट को आउटपुट डिवाइस के मदद से उपयोगकर्ता को दिखाना.
  • जरूरत पड़ने पर Data को स्टोरेज डिवाइस में save करना.

कंप्यूटर क्या कार्य करता है?

कंप्यूटर यूजर द्वारा दिए इनपुट को ग्रहण करता है. फिर यूजर द्वारा दिए गए निर्देश के अनुसार उस इनपुट को प्रोसेस करता है. इनपुट प्रोसेस करने के बाद कंप्यूटर रिजल्ट को अपने आउटपुट डिवाइस के माध्यम से यूजर को दिखा देता है.

कंप्यूटर के सभी कार्यों को कौन नियंत्रित करता है?

कंप्यूटर में CPU नाम का एक उपकरण होता है. इसकी मदद से ही कंप्यूटर के सभी कार्यों को कंट्रोल किया जाता है. सीपीयू के मदद सही कंप्यूटर सभी काम को सही तरह से कर पाता हैं. सीपीयू को कंप्यूटर का मस्तिष्क भी कहा जाता है.

दोस्तों कंप्यूटर कैसे कार्य करता है के बारे में पढ़ने के बाद आप कंप्यूटर के कार्य करने के तरीके के बारे में जान गए होंगे. हम उम्मीद करते हैं कि कंप्यूटर के कार्य के विषय में जानकर आप कंप्यूटर का उपयोग और आसानी से कर सकते हैं. पसंद आने पर इस पोस्ट को अपने दूसरे दोस्तों के साथ भी जरूर शेयर कीजिए.

Previous articleसॉफ्टवेयर कितने प्रकार के होते हैं?
Next articleहार्डवेयर क्या है?
में एक कंप्यूटर टीचर हूँ और कंप्यूटर साइंस में मास्टर डिग्री किया हुआ है. मुझे टेक्नोलॉजी से संबंधित चीजें बहुत ही दिलचस्प लगता है. इसी कंप्यूटर एडिशन ब्लॉग के जरिये में कंप्यूटर कोर्स को सरल तरीको से समझाने की कोसिस करती हूँ.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here