जिस प्रकार मनुष्य के विभिन्न अंगों जैसे कान नाक इत्यादि से संपूर्ण शरीर बनता है, उसी प्रकार कंप्यूटर मशीन को चलाने में हार्डवेयर की अहम भूमिका होती है.

दोस्तों हमारे पिछले आर्टिकल में हमने आपको हार्डवेयर क्या है, हार्डवेयर की परिभाषा के साथ साथ Hardware के प्रकार के बारे में भी बताया था. लेकिन बहुत सारे रीडर्स इस विषय में और जानना चाहते हैं.

इसलिए उनकी मांग को ध्यान में रखते हुए हम आज आपके सामने हार्डवेयर के प्रकार को बहुत ही आसान शब्दों में लेकिन डिटेल में बताने वाले हैं. आइए जानते हैं.

computer hardware ke prakar

हार्डवेयर के प्रकार

हार्डवेयर कम्प्यूटर का वह भौतिक भाग होता है जिसकी मदद से एक कंप्यूटर किसी भी task को परफॉर्म कर पाता है. CPU, Memory, Hard Disk, Monitor, Printer, इत्यादि हार्डवेयर के कुछ प्रमुख उदाहरण है. यहाँ आपको हार्डवेयर और सॉफ्टवेर में अंतर जानने को मिल जायेगा.

हार्डवेयर एक जैसे नहीं होते हैं बल्कि कार्यप्रणाली, डिजाइन के आधार पर यह अलग-अलग तरह के होते हैं. सरल शब्दों में कहें तो हार्डवेयर कई प्रकार के होते हैं जैसे

Input Device – हार्डवेयर के वो प्रकार जिसकी मदद से यूजर्स कंप्यूटर में input data यानी कि सूचनाओं को डालता है. ‌ सभी हार्डवेयर में इनपुट डिवाइस सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण है.

क्योंकि अगर यह ना हो तो यूजर्स किसी भी इंस्ट्रक्शन को कंप्यूटर में एंटर नहीं कर पाएंगे. Input Device के अंतर्गत यह सभी पार्ट्स आते हैं –

Pointing Device – Pointing Device वे हार्डवेयर पार्ट्स होते हैं जिनकी मदद से कंप्यूटर में किसी भी चीज को प्वाइंट आउट किया जाता है या यूं कहें कि cursor को कंट्रोल किया जाता है.

Keyboard – कीबोर्ड की मदद से कंप्यूटर में जरूरी इंफॉर्मेशन को टाइप करके डाला जाता है.

Mouse – किसी भी टेक्स्ट को सिलेक्ट करने के लिए व cursor कंट्रोल करने के लिए माउस की जरूरत होती है.

Pointing stick – Pointing stick पेंसिल और इरेज़र के जैसा ही होता है. इस डिवाइस को G,H और B के बीच में रखा जाता है.

Stylus – Stylus एक पेन के आकार का डिवाइस होता है जिसका उपयोग कंप्यूटर में इंस्ट्रक्शन डालने के लिए किया जाता है. इस डिवाइस का उपयोग खास करके computer screen और graphic tablet में किया जाता है.

1. Game Controller

Game Pads – Game Pads को गेम खेलने के लिए ही बनाया गया है. प्लेयर्स दोनों हाथ से Game Pads को कंट्रोल कर सकते हैं.

Light Gun – Light Gun बिल्कुल एक असली Gun की तरह काम करता है. शूटिंग गेम्स खेलने के लिए इस हार्डवेयर डिवाइस का इस्तेमाल किया जाता है.

इसके अलावा बाकी सभी इनपुट डिवाइस के नाम नीचे बताए गए हैं.

  • Audio Input /Output Device
  • Microphone
  • Speakers
  • Headphone
  • Midi keyboard
  • Visual and Imaging Devices
  • Webcam
  • Digital Camera
  • Digital Camcorder

2. Processing Device

प्रोसेसिंग डिवाइस कंप्यूटर का सबसे बड़ा फंक्शन हार्डवेयर माना जाता है, क्योंकि इस हार्डवेयर की मदद से ही कंप्यूटर उपयोगकर्ता द्वारा दिए गए डाटा को इंफॉर्मेशन में बदलता है. इसके अंतर्गत कई सारी चीजें आती हैं जिसके बारे में नीचे बताया गया है –

Microprocessor – माइक्रो प्रोसेसर एक logically integrated chip हैं. जिसकी मदद से सभी जरूरी इंफॉर्मेशन और लॉजिकल इंस्ट्रक्शन को प्रोसेस किया जाता है.

GPU – GPU भी कंप्यूटर के Processing Device का एक जरूरी हिस्सा है. GPU की मदद से हमें कंप्यूटर में अच्छी वीडियो और इमेज क्वालिटी देखने को मिलती हैं.

CPU – सीपीयू को कंप्यूटर का दिमाग भी माना जाता है. क्योंकि सीपीयू के जरिए ही कंप्यूटर उपयोगकर्ता द्वारा दिए गए निर्देश पर काम कर पाता है.

Motherboard – Motherboard को कंप्यूटर का हृदय भी कहते हैं, क्योंकि सभी प्रोसेसर मदर बोर्ड से जुड़े होते हैं.

Network Card – नेटवर्क कार्ड खास तरह का हार्डवेयर है. जिसकी मदद से एक से अधिक कंप्यूटर को एक साथ जोड़ा जाता है.

Output Device – आउटपुट डिवाइस वो डिवाइस होते हैं. जो कंप्यूटर द्वारा दिए गए टास्क को पूरा करने के बाद processed information को वापस उपयोगकर्ता को देता है. Output device के अंतर्गत यह सारे हार्डवेयर काम करते हैं –

Monitor – मॉनिटर एक टीवी के आकार का हार्डवेयर डिवाइस है. जिसमें हम कंप्यूटर के फंक्शन को देख सकते हैं. मॉनिटर को सबसे बेसिक Output Device माना जाता है.

Printer – प्रिंटर की मदद से users अपने मनचाहे रिजल्ट को सॉफ्ट कॉपी से हार्ड कॉपी में बदल सकते हैं. और कंप्यूटर की जानकारी को पेपर में प्राप्त कर सकते हैं.

Projector – कंप्यूटर के फंक्शन को बड़े स्क्रीन में दिखाने के लिए प्रोजेक्टर का इस्तेमाल किया जाता है. इसके मदद से कंप्यूटर screen में हो रहे काम को बड़े से पर्दे पर दिखाया जा सकता है.

Memory Device – मेमोरी डिवाइस कंप्यूटर का एक बहुत ही पावरफुल हार्डवेयर माना जाता है क्योंकि कंप्यूटर उपयोगकर्ता द्वारा दिए गए जिस काम को करता है.

उसके आउटपुट रिजल्ट को memory device save करके रखता है. मेमोरी डिवाइस के अंतर्गत आने वाले हार्डवेयर के बारे में नीचे बताया गया है –

Primary memory device – प्राइमरी मेमोरी डिवाइस वो डिवाइस होते हैं! जो कंप्यूटर के अंदर इनबिल्ट होते हैं और कंप्यूटर के अंदर ही सभी चीजों को स्टोर रखते हैं.

RAM – RAM एक volatile storage memory है. RAM के अंदर कंप्यूटर में Process हुए सभी डाटा स्टोर रहते हैं.

Cache Memory – Cache Memory ना सिर्फ डाटा को स्टोर करने में मदद करता है. बल्कि कंप्यूटर को तेजी से चलने में भी मदद करता है.

Secondary memory device – सेकेंडरी मेमोरी डिवाइस को अलग से कंप्यूटर में चीजों को स्टोर करने के लिए डाला जाता है.

Hard drive – हार्ड ड्राइव को कंप्यूटर का external memory unit माना जाता है. डाटा को लंबे समय तक स्टोर करने के लिए हार्ड ड्राइव का इस्तेमाल किया जाता है.

CD – कंप्यूटर में हो रहे हैं! किसी खास काम को स्टोर करने के लिए सीडी का इस्तेमाल किया जाता है.

निष्कर्ष

दोस्तों इस लेख को पढ़ने के बाद आपको हार्डवेयर के प्रकार के विषय में बिस्तार में जानकारी मिल गई होग.

अगर आपके मन में अभी कोई ऐसा सवाल है! जो आप हम से पूछना चाहते हैं. तो आप बेझिझक नीचे कमेंट बॉक्स में पूछ सकते हैं अगर आपको हमारा यह काम अच्छा लगा हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर कीजिए.

Previous articleकंप्यूटर और लैपटॉप में नेट कैसे चलाये?
Next articleइनपुट डिवाइस किसे कहते हैं?
में एक कंप्यूटर टीचर हूँ और कंप्यूटर साइंस में मास्टर डिग्री किया हुआ है. मुझे टेक्नोलॉजी से संबंधित चीजें बहुत ही दिलचस्प लगता है. इसी कंप्यूटर एडिशन ब्लॉग के जरिये में कंप्यूटर कोर्स को सरल तरीको से समझाने की कोसिस करती हूँ.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here