हम सभी बिना कंप्यूटर के बारे में जाने अपने हर छोटे बड़े काम के लिए कंप्यूटर का इस्तेमाल करते हैं. कंप्यूटर शब्द सुनने में तो काफी छोटा लगता है, लेकिन यह कई सारे प्रोग्राम्स से मिलकर बना होता है और इन्हीं चीजों की मदद से कंप्यूटर उपयोगकर्ता द्वारा दिए गए task को भी पूरा करता है. हार्डवेयर भी कंप्यूटर का एक बेहद जरूरी हिस्सा है और इसके बिना कंप्यूटर अपने किसी भी काम को नहीं कर सकता. इसलिए कंप्यूटर के बारे में आप जानकारी को बढ़ाने के लिए व हार्डवेयर क्या हैं? यह समझाने के लिए हम ये पोस्ट लेकर आए हैं.

हमारे इस लेख को पढ़ने के बाद आपको हार्डवेयर के विषय में हर तरह की जानकारी मिल जाएगी. अगर आप कंप्यूटर के बारे में जानने के लिए इच्छुक हैं, तो आपको कंप्यूटर के इन जरूरी हिस्सों जैसे हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर के बारे में जरूर जाना चाहिए. इन चीजों को जानने के बाद आप कंप्यूटर को और भी अच्छी तरह से समझ पाएंगे. तो चलिए इस पोस्ट में सबसे पहले जानते हैं कि हार्डवेयर किसे कहते हैं?

hardware kya hai hindi

हार्डवेयर की परिभाषा

हार्डवेयर कंप्यूटर के उन parts को कहते हैं, जिन्हें हम देख व छू सकते हैं. हार्डवेयर कंप्यूटर का भौतिक हिस्सा होता है. हार्डवेयर की मदद से ही यूजर्स कंप्यूटर में डाटा और इंफॉर्मेशन डाल पाते हैं. मॉनिटर, कीबोर्ड, माउस और प्रिंटर कंप्यूटर के हार्डवेयर डिवाइस के उदाहरण है.

हार्डवेयर के प्रकार

हार्डवेयर कंप्यूटर का बहुत जरूरी हिस्सा है, लेकिन हार्डवेयर को एक मशीन नहीं है. बल्कि कई सारे मशीनों से मिलकर बना होता है और अपना काम करता है. हार्डवेयर के प्रकार को नीचे हमने विस्तार में बताया है. यहाँ हार्डवेयर के प्रकार बिस्तार से बताया गया है.

  1. Operating Device
  2. Input Device
  3. Output Device

Operating Device – कंप्यूटर को चलाने के लिए ऑपरेटिंग डिवाइस की जरूरत होती है और ऑपरेटिंग डिवाइस के अंतर्गत RAM, hard disk और CPU है.

RAM – RAM कंप्यूटर का जरूरी हार्डवेयर हैं, जिसकी मदद से कंप्यूटर किसी भी काम को प्रोसेस करता है.

Hard disk – यूजर्स द्वारा दिए गए टास्क को पूरा करने के बाद कंप्यूटर हार्ड डिस्क में उस काम को Save रखता है.

CPU – CPU को कंप्यूटर का मस्तिष्क माना जाता है और इसके बिना कंप्यूटर कोई भी काम नहीं कर सकता है.

Input Device – इनपुट डिवाइस के मदद से कंप्यूटर में जरूरी इंफॉर्मेशन और डाटा कंप्यूटर में डाला जाता है. इनपुट डिवाइस के अंतर्गत mouse, keyboard शामिल है.

Mouse – Mouse कंप्यूटर का एक इनपुट डिवाइस है जिसकी मदद से स्क्रीन पर किसी चीज को पॉइंट किया जाता है.

Keyboard – कीबोर्ड भी एक इनपुट डिवाइस है इसकी मदद से कंप्यूटर में डाटा और इंफॉर्मेशन को डाला जाता है.

Output Device – आउटपुट डिवाइस के अंतर्गत monitor और printer शामिल हैं. आउटपुट डिवाइस की मदद से यूज़र अपने डाटा के रिजल्ट को देख सकते हैं.

Monitor – मॉनिटर एक टीवी के आकार का आउटपुट डिवाइस है. जिसमें यूजर्स अपने काम को देख सकते हैं.

Printer – Printer भी कंप्यूटर का आउटपुट डिवाइस है. जिसकी मदद से कंप्यूटर के सॉफ्ट कॉपी को हार्ड कॉपी में बदला जाता है.

हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर में क्या संबंध हैं?

हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर दोनों की मदद से कंप्यूटर अपना काम पूरा करता है. हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर के संतुलन से कंप्यूटर किसी भी काम को पूरा करता है. हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर के बीच के संबंध को कुछ इस तरह से देख सकते हैं –

हार्डवेयर अगर कंप्यूटर की body है तो सॉफ्टवेयर कंप्यूटर की life blood है.

हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर दोनों के सहयोग से उपयोगकर्ता कार्यों को कंप्यूटर में पूरा करते हैं.

बिना हार्डवेयर के सॉफ्टवेयर किसी भी टास्क को पूरा नहीं कर सकती हैं. वही सॉफ्टवेयर के बिना हार्डवेयर काम ही नहीं कर सकती हैं.

अलग-अलग तरह के सॉफ्टवेयर हार्डवेयर में डालकर कंप्यूटर को उपयोग में लाया जाता है.

सरल शब्दों में कहा जा सकता है कि हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर कंप्यूटर के दिल और आत्मा हैं.

हार्डवेयर क्यों जरूरी है?

हार्डवेयर, कंप्यूटर का वो हिस्सा है! जिसकी मदद से यूजर्स कंप्यूटर में जरूरी इंफॉर्मेशन और डाटा डालते हैं. अगर हार्डवेयर ना हो तो उपयोगकर्ता कंप्यूटर में किसी भी तरह के डाटा और इनपुट्स नहीं डाल पाएंगे और कंप्यूटर अपना काम नहीं कर पाएगा. हार्डवेयर के मदद से ही उपयोगकर्ता कंप्यूटर में निर्देशों को डालकर उसे नियंत्रित करता है और अपने काम को करता हैैं‌. तो आप समझ सकते हैं कि हार्डवेयर कंप्यूटर के लिए कितने ज्यादा जरूरी है.

हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर में क्या अंतर है?

जैसा कि आप भी जानते हैं हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर दोनों ही एक दूसरे के पूरक है. हार्डवेयर के बने सॉफ्टवेयर सॉफ्टवेयर के बिना हार्डवेयर दोनों ही अधूरे हैं लेकिन फिर भी इन दोनों के बीच काफी भिन्नता देखने को मिलती है. हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर के बीच के अंतर को नीचे काफी आसान शब्दों में स्पष्ट किया गया है –

1 हार्डवेयर कंप्यूटर का भौतिक भाग होता है, तो वही सॉफ्टवेयर कंप्यूटर का अभौतिक भाग होता है. यानी कि हम हार्डवेयर को छू और देख सकते हैं लेकिन सॉफ्टवेयर को हम नहीं छू सकते हैं.

2 जहां हार्डवेयर एक मशीन की तरह काम करता है तो वही कंप्यूटर एक प्रोग्राम के रूप में काम करता है.

3 हार्डवेयर के लिए भौतिक सामग्रियों की जरूरत होती है. वही सॉफ्टवेयर प्रोग्रामिंग लैंग्वेज की मदद से बनता है.

4 हार्डवेयर सॉफ्टवेयर की मदद से कार्य करता है. और सॉफ्टवेयर के जरिए पूरे कंप्यूटर का संचालन होता है.

5 अगर हार्डवेयर खराब हो जाए तो उसे जरूरत पड़ने पर ठीक और रिप्लेस किया जा सकता है. वहीं अगर सॉफ्टवेयर खराब हो जाए तो उसे ठीक करने में काफी परेशानी आती है और कई बार तो सॉफ्टवेयर ठीक होता भी नहीं है.

6 कंप्यूटर के हार्डवेयर वाले हिस्से में वायरस का कोई असर नहीं होता है. और ना ही वायरस के प्रभाव से हार्डवेयर खराब होता है. लेकिन वही वायरस से सॉफ्टवेयर पूरी तरह खराब हो जाता है.

7 हार्डवेयर के बिना कंप्यूटर अधूरा है. लेकिन सॉफ्टवेयर के बिना हार्डवेयर काम ही नहीं कर सकता है.

8 सॉफ्टवेयर की तुलना में हार्डवेयर थोड़ा सस्ता होता है, क्योंकि सॉफ्टवेयर काफी महंगा आता हैं.

निष्कर्ष

दोस्तों हमारे इस पोस्ट हार्डवेयर क्या हैं? पढ़ने के बाद आप को कंप्यूटर के हार्डवेयर के बारे में पूरी जानकारी मिल गई होगी. हार्डवेयर क्या है और यह क्यों जरूरी है! इस तरह के सभी सवालों के जवाब आपको इस लेख में मिल गया होगा. अगर आपको हमारा यह काम पसंद आया हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर कीजिए.

Previous articleकंप्यूटर कैसे कार्य करता है?
Next articleकंप्यूटर हार्डवेयर की परिभाषा क्या है?
में एक कंप्यूटर टीचर हूँ और कंप्यूटर साइंस में मास्टर डिग्री किया हुआ है. मुझे टेक्नोलॉजी से संबंधित चीजें बहुत ही दिलचस्प लगता है. इसी कंप्यूटर एडिशन ब्लॉग के जरिये में कंप्यूटर कोर्स को सरल तरीको से समझाने की कोसिस करती हूँ.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here