micro computer ke prakar hindi

शुरुआती दौर में कंप्यूटर का आकार काफी बड़ा होता था इन्हें एक कमरे में स्टोर एवं ऑपरेट किया जाता था लेकिन वर्तमान में कंप्यूटर कितने पोर्टेबल हो चुके हैं कि आसानी से इन्हें बैग में कैरी कर ले जाया जा सकता है.

आज घर-घर में माइक्रो कंप्यूटर अर्थात् पर्सनल कंप्यूटर का उपयोग किया जाता है. लेकिन क्या आप जानते हैं माइक्रो कंप्यूटर के प्रकार कितने होते हैं. और आज की इस पोस्ट में हम डिटेल से जानेंगे माइक्रो कंप्यूटर के सभी प्रकारों के बारे में आइए सबसे पहले जानते हैं.

माइक्रो कंप्यूटर क्या है?

माइक्रो-कंप्यूटर बिजली की सहायता से चलने वाला एक कंप्यूटर है जिसमें माइक्रोप्रोसेसर होता है. जिस वजह से इसका आकार बड़े कंप्यूटर्स mainframe computer, minicomputer की तुलना मे छोटा होता है परंतु यह कंप्यूटर अन्य कंप्यूटर की तरह ही कार्य करने में सक्षम होते हैं. बस यह साइज में छोटे होते है.

इन computers को पर्सनल कंप्यूटर के तौर पर भी जाना जाता है अगर आसान शब्दों में कहें तो मिनी कंप्यूटर एक माइक्रो कंट्रोलर ही होता है. जिसका उपयोग घर के अनेक इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों में भी किया जाता है.

माइक्रो कंप्यूटर कितने प्रकार के होते हैं?

निचे आपको माइक्रो कंप्यूटर के उदाहरण दिया गया है.

  • Desktop Microcomputer
  • Laptop Microcomputer
  • PDA Microcomputer
  • Palmtop Microcomputer
  • Workstations Microcomputer
  • Servers Microcomputer
  • Mini tower Microcomputer
  • Full tower Microcomputer
  • Tablet and Smartphone Microcomputer

आइए माइक्रो कंप्यूटर के इन प्रकारों को विस्तार से जानते हैं.

1. डेस्कटॉप माइक्रो कंप्यूटर

desktop microcomputer

Desktop Computer माइक्रो कंप्यूटर का सबसे लोकप्रिय प्रकार हैं. डेस्कटॉप कंप्यूटर एक यूजर फ्रेंडली कंप्यूटर हैं. इस तरह के कंप्यूटर में व्यक्ति अपनी सुविधा के अनुसार कोई भी कार्य कर सकता है. इस कंप्यूटर को टेबल पर रखा जाता है क्योंकि इस कंप्यूटर से और भी कई उपकरण जुड़े होते हैं. डेस्कटॉप कंप्यूटर में मॉनिटर के साथ कीबोर्ड, माउस‌ और दूसरे सिस्टम यूनिट के तार भी जुड़े होते हैं.

यह कंप्यूटर यूजर द्वारा दिए गए कमांड के अनुसार काम करता हैं और यूजर के निर्देशों के अनुसार रिजल्ट देता हैं. इस तरह के कंप्यूटर को वाई-फाई और LAN केबल की मदद से आसानी से इंटरनेट से कनेक्ट किया जा सकता हैं. इस तरह के कंप्यूटर को हर जगह लेकर नहीं जाया सकते हैं.

2. लैपटॉप माइक्रो कंप्यूटर

laptop microcomputer

Laptop भी माइक्रो कंप्यूटर का ही एक भाग हैं. लैपटॉप की कार्यक्षमता (functional) डेस्कटॉप कंप्यूटर की तरह ही होती है. लैपटॉप को नोटबुक के नाम से भी जाना जाता हैं. चूंकि डेक्सटॉप को अपने साथ हर जगह नहीं ले जाया जा सकता. इसलिए लैपटॉप को एक स्टाइलिश ब्रीफकेस की तरह तैयार किया गया है.

और पोर्टेबिलिटी के कारण इस डिवाइस को आसानी से कहीं भी ले जाया जा सकता हैं. लैपटॉप में अलग से किसी इनपुट device को जोड़ने की जरूरत नहीं पड़ती हैं. इसमें पहले से ही सभी चीजे इनबिल्ड रहती हैं. डेस्कटॉप कंप्यूटर के तुलना में लैपटॉप ज्यादा महंगे होते हैं. इस कंप्यूटर को आसानी कही भी ले जाया जा सकता हैं.

3. पीडीए माइक्रो कंप्यूटर

pda microcomputer

PDA का full form personal digital assistant हैं. PDA माइक्रो कंप्यूटर को यूजर की सुविधा को ध्यान में रखकर डिजाइन किया गया है.

इस तरह के माइक्रो कंप्यूटर अपने यूजर्स के लिए असिस्टेंट की तरह काम करते हैं. इन कंप्यूटर्स का आकार भी टैबलेट, पाम टॉप स्मार्टफोन के समान ही छोटा होता हैं. इस कंप्यूटर में भी पोर्टिबिलिटी की सुविधा होती रही.

इस तरह के कंप्यूटर की LCD screen दूसरे कंप्यूटर की तुलना में छोटी होती हैं. PDA को दूसरे कंप्यूटर्स के तरह LAN cable, IR, bluetooth, radio beem, WiFi के साथ आसानी से कनेक्ट किया जा सकता हैं.

PDA का इस्तेमाल लोग अधिकतर कैलेंडर, टू-डू लिस्ट, एड्रेस बुक और नोट लेने के लिए करते हैं.

4. पामटॉप माइक्रो कंप्यूटर

palmtop microcomputer

इस तरह के कंप्यूटर को पॉकेट कंप्यूटर के नाम से भी जाना जाता है. यह कंप्यूटर पीडीए से भी आकार में छोटा होता है. एक छोटा पोर्टेबल डिवाइस होने के कारण PDA कम बिजली का इस्तेमाल करता हैं.

इस तरह के कंप्यूटर में इनपुट डालने के लिए स्टाइलिश पेन स्टिक का प्रयोग किया जाता है. आकार में छोटा होने के कारण इस तरह के कंप्यूटर में डिस्क ड्राइव नहीं होता है‌, लेकिन यह कंप्यूटर डिस्क ड्राइव और मेमोरी मैनेजमेंट करने के लिए PCMCIA‌ स्लॉट को यूज करता है.

5. वर्कस्टेशन माइक्रो कंप्यूटर

workstation microcomputer

वर्कस्टेशन माइक्रो कंप्यूटर को वन साइड कंप्यूटर के नाम से भी जाना जाता है, इस तरह के कंप्यूटर में कई सारे माइक्रोप्रोसेसर्स CPU लगे होते हैं. इस तरह के कंप्यूटर का प्रयोग किसी खास एप्लीकेशन को डिजाइन करने के लिए किया जाता है.

एक साधारण डेस्कटॉप कंप्यूटर की तुलना में यह कंप्यूटर अधिक शक्तिशाली होते हैं. जैसा कि नाम से जाहिर होता हैं, इस तरह के कंप्यूटर को वर्किंग area में ज्यादा यूज किया जाता हैं.

6. सर्वर माइक्रो कंप्यूटर

server microcomputer

सर्वर माइक्रो कंप्यूटर को काफी पसंद किया जाता हैं क्योंकि इस तरह के कंप्यूटर में शाक्तिशाली कार्य करने की क्षमता बहुत ही ज्यादा होती है.

सर्वर माइक्रो कंप्यूटर का प्रयोग LAN और VAN जैसे नेटवर्क पर व दूसरे टर्मिनल पर डेटा रेंडर करने के लिए किया जाता हैं.

सर्वर माइक्रो कंप्यूटर को अलग-अलग उद्देश्यों को पूरा करने के लिए डिजाइन किया जाता है जैसे कि web सर्वर कंप्यूटर को इंटरनेट में मौजुद सभी वेब पेजों को संचालित करने के लिए बनाया जाता हैं.

7. मिनी टावर माइक्रो कंप्यूटर

mini tower micro computer

इस तरह के कंप्यूटर को एक छोटे टावर के रूप में बनाया जाता है. दूसरे कंप्यूटर की तुलना में आकार में छोटे होने के कारण ही कंप्यूटर टेबल पर ज्यादा जगह नहीं लेता हैं। इस कंप्यूटर में इनपुट या output करने के लिए अलग-अलग Buses का प्रयोग किया जाता हैं.

8. फुल टावर माइक्रो कंप्यूटर

full-tower microcomputer

फुल टावर माइक्रो कंप्यूटर को मिनी टावर माइक्रो कंप्यूटर का ही एडवांस वर्जन माना जाता है. इस कंप्यूटर में मदरबोर्ड, स्टोरेज डिवाइस, ग्राफिक्स कार्ड, बिजली की सप्लाई जैसे कई परिधीय घटक मौजुद होते हैं.

9. टैबलेट और स्मार्टफोन माइक्रो कंप्यूटर

tablet microcomputer

टैबलेट और स्मार्टफोन भी माइक्रो कंप्यूटर के अन्तर्गत ही आते हैं. टैबलेट और स्मार्टफोन दोनों में ही टच स्क्रीन इंटरफ़ेस होता है. टैबलेट स्मार्टफोन की तुलना में बड़ा और पोर्टेबल डिवाइस हैं. टैबलेट और स्मार्टफोन में किसी भी तरह के डाटा ट्रांसफर करने से लेकर गेम खेलने तक कोई भी काम किया जा सकता है.

निष्कर्ष

तो साथियों आज की यह पोस्ट पढ़ने के बाद माइक्रो कंप्यूटर के प्रकार अब आप जान चुके होंगे. अगर आपको आज की यह पोस्ट पसंद आई तो आप इसको ज्यादा से ज्यादा शेयर करना ना भूले.

Previous articleलैपटॉप कैसे चलाते हैं?
Next articleअनुप्रयोग के आधार पर कंप्यूटर के प्रकार
में एक कंप्यूटर टीचर हूँ और कंप्यूटर साइंस में मास्टर डिग्री किया हुआ है. मुझे टेक्नोलॉजी से संबंधित चीजें बहुत ही दिलचस्प लगता है. इसी कंप्यूटर एडिशन ब्लॉग के जरिये में कंप्यूटर कोर्स को सरल तरीको से समझाने की कोसिस करती हूँ.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here