जिस तरह इंसान किसी भी चीज़ को लेकर प्रतिक्रिया करते हैं उसी तरह कंप्यूटर भी करते हैं लेकिन मनुष्य द्वारा लिए गए किसी भी एक्शन को हम सीधा देख सकते हैं. लेकिन कंप्यूटर को यही कार्य करने के लिए कुछ Devices की आवश्यकता होती है, उन्हें Output device कहा जाता है.

अतः आप यह समझ सकते हैं कि आउटपुट डिवाइस के बिना कंप्यूटर में कोई काम नहीं किया जा सकता है. लेकिन ऐसा क्यों? यह सवाल शायद आपके दिमाग में आ रहा होगा इसका जवाब आपको हमारे इस लेख को पढ़ने के बाद मिलेगा. इस लेख में आप जानेंगे कि Output device क्या है? कितने प्रकार का होता है और इसके उदाहरण क्या है? तो आइये जानते हैं.

आउटपुट डिवाइस क्या है?

आउटपुट डिवाइस कंप्यूटर के हार्डवेयर पार्ट्स का वह हिस्सा है जो यूज़र द्वारा दिए गए निर्देश व डाटा को receive करता है और डाटा को प्रोसेस करने के बाद Results यूजर तक पहुचाता है.

output device kya hai hindi

Example के लिए आप कीबोर्ड (input device) से कोई भी key दबाते हैं तो आपको रिजल्ट एक Output device मॉनिटर पर दिखाई देता है. इतना ही नहीं हम कंप्यूटर में जो काम करते हैं उसे हार्ड कॉपी में बदलने के लिए भी आउटपुट डिवाइस की जरूरत होती है.

दुसरे शब्दों में आउटपुट डिवाइस का काम उपयोगकर्ता द्वारा इनपुट डिवाइस के मदद से भेजे गए निर्देशों को ग्रहण करना और कंप्यूटर में हो रहे काम को यूजर्स तक पहुचाना होता है. Speaker, printer इत्यादि output devices डाटा को विभिन्न माध्यम से उपयोगकर्ता तक पहुंचाते हैं.

आउटपुट डिवाइस के प्रकार

कैटेगरी के आधार पर आउटपुट डिवाइस मुख्यतः तीन तरह के होता हैं.

Print output device – वह डिवाइस जो कंप्यूटर में प्रोसेस किए गए सॉफ्टकॉपी को हार्डकॉपी में बदलता है. इस आउटपुट डिवाइस के मदद से कंप्यूटर किए गए काम को पेपर में प्राप्त किया जा सकता है. इस तरह के आउटपुट डिवाइस में प्रिंटर शामिल है. इसमें हम आउटपुट को देख, छू और पढ़ सकते हैं.

Visual output device – यह वह आउटपुट डिवाइस है जिसके द्वारा हम कंप्यूटर में हो रहे काम को देख सकते हैं. यह कंप्यूटर का सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा माना जाता है. इसके बिना कंप्यूटर में किसी भी काम को नहीं किया जा सकता है. इस आउटपुट डिवाइस में आउटपुट को सिर्फ देखा और पढ़ा जा सकता है लेकिन इसे छुआ नहीं जा सकता. मॉनिटर एक सॉफ्टकॉपी आउटपुट डिवाइस है.

Sound output device – Sound output device भी कंप्यूटर का एक जरूरी आउटपुट डिवाइस है. इस आउटपुट डिवाइस के मदद से हम कंप्यूटर के voice और audio को तो हम सुन सकते हैं. कंप्यूटर में वीडियो देखने के लिए या फिर मूवी देखते समय इस डिवाइस का प्रयोग किया जाता है. Speaker और headphones इसी आउटपुट डिवाइस का उदाहरण है.

आउटपुट डिवाइस के उदाहरण

कंप्यूटर के आउटपुट डिवाइस के example और उनकी जानकारी नीचे दी गई है. यह कंप्यूटर के सबसे ज्यादा उपयोग किए जाने वाले और सबसे महत्वपूर्ण आउटपुट डिवाइस है.

Monitor – मॉनिटर एक टीवी के आकार का आउटपुट डिवाइस है. जिसमें हम कंप्यूटर में हो रहे काम को देख पाते हैं. मॉनिटर कंप्यूटर का सबसे महत्वपूर्ण भाग है. क्योंकि अगर यह ना हो तो उपयोगकर्ता द्वारा डाले गए इंफॉर्मेशन दिखाई ही नहीं देंगे और कंप्यूटर में काम करना मुश्किल हो जाएगा.

मॉनिटर के मदद से हम यह देख पाते हैं कि कंप्यूटर में आखिर चल क्या रहा है. मॉनिटर का मुख्य कार्य यूजर्स द्वारा दिए गए निर्देश को ग्रहण कर उस निर्देश को प्रोसेस करने के बाद रिजल्ट कोई यूजर को दिखाना है.

Printer – Printer कंप्यूटर के हार्डवेयर का सबसे जरूरी आउटपुट डिवाइस है. इस आउटपुट डिवाइस के मदद से कंप्यूटर में प्रोसेस किए गए डाटा को हार्ड कॉपी में यानी कि पेपर में कन्वर्ट किया जाता है. फोटो कॉपी और जेरॉक्स प्रिंटर के द्वारा ही होता है. प्रिंटर का आविष्कार सर्वप्रथम 1951 में हुआ था. तब से अब तक नए और अलग अलग तरह के प्रिंटर इन्वेंट हो रहे हैं.

Headphones – Headphones भी कंप्यूटर डिवाइस का खास हिस्सा है. जिससे कंप्यूटर में ऑडियो वीडियो से उत्पन्न ध्वनि को सुना जा सकता है. कंप्यूटर के साउंड को यूजर्स तक पहुंचाने का काम Headphones करते हैं. Headphones का उपयोग करने पर कंप्यूटर के साउंड को केवल एक व्यक्ति सुन सकता है.

Computer Speakers – कंप्यूटर में चल रहे वीडियो या ऑडियो साउंड को एक या एक से अधिक लोगों तक सुनाने के लिए computer speaker का इस्तेमाल किया जाता है.
Projector – जैसा कि नाम से ही समझ आ रहा है कंप्यूटर के इस इनपुट डिवाइस का काम कंप्यूटर स्क्रीन पर चल रहे चीजों को दीवार या फिर बड़े पर्दे पर दिखाना है. कंप्यूटर के इस आउटपुट डिवाइस का प्रयोग का उपयोग ऑफिस में presentation देने के लिए और स्कूल में बच्चों को नई नई चीजें सिखाने के लिए किया जाता है.

GPS – जीपीएस भी कंप्यूटर का एक खास तरह का हाउस डिवाइस है. लेकिन उसके बारे में ज्यादा किसी को जानकारी नहीं होती है. जीपीएस की मदद से एक कंप्यूटर से दूसरे कंप्यूटर में डाटा को ट्रांसफर किया जाता है. जीपीएस रेडियो नेवीगेशन सिस्टम आधार पर काम करता है. जीपीएस सेटेलाइट के सिग्नल द्वारा डाटा का आदान प्रदान करता है. जीपीएस का उपयोग सर्वप्रथम 1960 में संयुक्त राज्य अमेरिका द्वारा किया गया था.

Speech-Generating Device (SGD) – यह कंप्यूटर का एक आधुनिक आउटपुट डिवाइस है. इसके मदद से कंप्यूटर में लिखे गए टेक्स्ट को ऑडियो फॉर्म में सुना जा सकता है. यानी कि इस आउटपुट डिवाइस का उपयोग करके आप कंप्यूटर में text टाइप कर उसे ऑडियो में बदल सकते हैं.

कंप्यूटर की आउटपुट डिवाइस कौन सी है?

कंप्यूटर में process किए गए डाटा को हम निम्न आउटपुट डिवाइस की मदद से प्राप्त कर सकते है, और इनके नाम है – monitor, printer, projector, speaker, plotter इत्यादि.

हेडफोन कौन सी डिवाइस है?

हेडफोन एक आउटपुट डिवाइस है इसके द्वारा हम कंप्यूटर के sound या voice को सुन सकते हैं. हेडफोन का इस्तेमाल केवल एक व्यक्ति कर सकता है.

आउटपुट यूनिट का उदाहरण क्या है?

Printer, monitor, speaker आदि आउटपुट यूनिट के उदाहरण है।. प्रिंटर के द्वारा कंप्यूटर में किए गए काम को सॉफ्ट कॉपी से हार्ड कॉपी में परिवर्तित किया जाता है. मॉनिटर के द्वारा कंप्यूटर में हो रहे काम का जायजा लिया जाता है. और स्पीकर के द्वारा कंप्यूटर में चल रहे वीडियो या ऑडियो का साउंड प्राप्त किया जाता है.

आउटपुट यंत्र को हिंदी में क्या कहते हैं?

आउटपुट यंत्र यानी आउटपुट डिवाइस को हिंदी में निर्गम यंत्र कहते हैं. आउटपुट यंत्र के द्वारा कंप्यूटर में process किए गए डाटा को सॉफ्टकॉपी या हार्डकॉपी के रूप में यूज़र को दिया जाता है. सॉफ्ट कॉपी को यूजर्स सिर्फ देख और पढ़ सकते हैं हार्डकॉपी को यूजर्स देखने और पढ़ने के साथ साथ छू भी सकते हैं.

निष्कर्ष

दोस्तों हमारे इस लेख को पढ़ने के बाद आपको समझ आ गया होगा कि आउटपुट डिवाइस क्या है और क्यों इसके बिना कंप्यूटर नहीं चल सकता. इस पोस्ट में बताई गई जानकारी अगर आपको अच्छी लगी हो और हमारा काम आपको पसंद आया हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर कीजिए. क्योंकि इस तरह की जानकारी सभी के लिए काफी फायदेमंद होती है.

Previous articleकंप्यूटर के इनपुट डिवाइस कौन कौन से हैं?
Next articleकंप्यूटर के आउटपुट डिवाइस कौन कौन से हैं?
में एक कंप्यूटर टीचर हूँ और कंप्यूटर साइंस में मास्टर डिग्री किया हुआ है. मुझे टेक्नोलॉजी से संबंधित चीजें बहुत ही दिलचस्प लगता है. इसी कंप्यूटर एडिशन ब्लॉग के जरिये में कंप्यूटर कोर्स को सरल तरीको से समझाने की कोसिस करती हूँ.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here