personal computer ke prakar hindi

दोस्तों Personal computer का नाम सुनते ही हमारे दिमाग में सबसे पहला ख्याल PC (desktop computer) या Laptop का आता हैं. लेकिन मात्र इन्हीं दो कंप्यूटर्स को personal computer नहीं कहा जाता बल्कि पर्सनल कंप्यूटर के प्रकार और भी है.

और आज की इस पोस्ट में हम पर्सनल कंप्यूटर के सभी प्रकारों की विस्तारपुर्वक जानकारी प्राप्त करेंगे.

पर्सनल कंप्यूटर के हर एक प्रकार को एक खास मकसद के लिए डिज़ाइन किया गया हैं, जिसके बारे में जानने के लिए इस पोस्ट को पूरा पढ़िए. तो आइए शुरू करते है पीसी के विभिन्न प्रकार.

पर्सनल कंप्यूटर क्या है?

Personal Computer को शॉर्ट में PC कहा जाता है. यह मल्टी पर्पस कंप्यूटर होते है, जिनके आकार, डिजाइन तथा कार्यक्षमता की वजह से उन्हें व्यक्तिगत (individual) उपयोग के लिए बेहतरीन माना जाता हैं.

पर्सनल कंप्यूटर आसानी से मार्केट में उपलब्ध होते हैं, इनके अफॉर्डेबल दाम तथा फीचर्स की वजह से आज यह कंप्यूटर घर घर तक पहुंच चुके हैं आइए जानते हैं.

पर्सनल कंप्यूटर कितने प्रकार के होते हैं?

पर्सनल कंप्यूटर के आकार और उपयोग के अनुसार इसे कई भागों में बाँटा गया हैं, जिसके बारे में हम आगे बात करने वाले हैं. इससे पहले एक बार अनुप्रयोग के आधार पर कंप्यूटर के प्रकार पढ़ लीजिये.

  • Workstation
  • Desktop Computer
  • Laptop
  • Tablet
  • Smartphone
  • Ultra Mobile PC
  • Pocket PC

1. वर्कस्टेशन कंप्यूटर

workstation PC

वर्कस्टेशन कंप्यूटर को इस तरह से डिज़ाइन किया गया है कि इसे एक समय पर एक ही व्यक्ति कंट्रोल कर सकता है, लेकिन इसकी कार्य करने की क्षमता काफी अधिक होती है.

इस तरह के कंप्यूटर को गणितीय या वैज्ञानिक अनुप्रयोगों के लिए डिज़ाइन किया जाता है यह हाई परफॉर्मेंस देने वाला कंप्यूटर हैं.

ये कंप्यूटर अधिकतर LAN (Local Area Network) से जुड़े होते हैं. यह कंप्यूटर अकेले कई सारे नेटवर्क system को कंट्रोल करते हैं.

इस तरह के कंप्यूटर का उपयोग निम्नलिखित उद्देश्य एवम् क्षेत्रों में किया जाता है.

Computer Aided Design (CAD), Drafting And Modeling, Computation Intensive Scientist, Engineering calculation, Image processing, Architectural modeling, Animation and motion picture visual effects, Computer Graphics इत्यादि.

2. डेस्कटॉप कंप्यूटर

Desktop PC

असल में डेस्क टॉप कंप्यूटर को ही पर्सनल कंप्यूटर कहा जाता है क्योंकि इस तरह के कंप्यूटर को एक व्यक्ति द्वारा कंट्रोल किया जाता है.

साथ ही इसका साइज़ इस तरह डिज़ाइन किया जाता हैं कि यह कंप्यूटर एक desk में पूरी तरह फिट हो जाए. डेस्कटॉप कंप्यूटर की कार्य क्षमता वर्क स्टेशन कंप्यूटर की तरह नहीं होती हैं.

डेस्क टॉप कंप्यूटर के मुख्य भागों में मॉनिटर, की बोर्ड, माउस और सीपीयू शामिल है. इस कंप्यूटर को इस तरह से डिज़ाइन किया गया है कि इसे एक ही स्थान पर रखकर इस्तेमाल किया जा सके. इसे हर जगह अपने साथ नहीं ले जाया जा सकता हैं.

ऐसा भी माना जाता है कि desktop computer ही पहला पर्सनल कंप्यूटर था क्योंकि कंप्यूटर के इतिहास की शुरूआत हुई थी तबसे डेस्क टॉप कंप्यूटर का इस्तेमाल ही इस्तेमाल किया जा रहा हैं.

वैसे तो लंबे समय रह डेक्सटॉप कंप्यूटर के जरिए heavy Task सरलतापूर्क नहीं किए जा सकते, लेकिन इससे दूसरे सभी काम आसानी से किए जा सकते हैं. इस तरह के कंप्यूटर का उपयोग व्यावसायिक कार्य स्थानों और घरों में ज्यादातर किया जाता है.

3. लैपटॉप कंप्यूटर

laptop PC

इस तरह के कंप्यूटर को नोटबुक के नाम से भी जाना जाता है. लैपटॉप कंप्यूटर को इस तरह से डिज़ाइन किया गया है कि इसे अपने साथ कहीं भी ले जाया जा सकता है.

वैसे तो यह बिल्कुल डेक्सटॉप कंप्यूटर की तरह ही होता है, लेकिन इसमें डेस्क टॉप कंप्यूटर कि तरह अलग से की-बोर्ड, मॉनिटर सीपीयू नहीं लगा होता है.

यह एक पोर्टेबल कंप्यूटर है जिसमे स्क्रीन, की बोर्ड और एक ट्रैक पैड या ट्रैक बॉल (माउस का काम करता है) इनबिल्ड होता हैं. वैसे तो लैपटॉप भी डेस्क टॉप के तरह ही काम करता है. लैपटॉप का इस्तेमाल लोग अधिकतर इसलिए करते हैं क्योंकि इसे आसानी से कहीं भी ले जाया जा सकता हैं और इसे बिना किसी तार, केबल के इंटरनेट से कनेक्ट किया जा सकता है.

4. टेबलेट

tablet PC

Tablet को अधिकतर लोग फोन का ही एडवांस वर्जन समझते हैं लेकिन ये धारणा पूरी तरह गलत हैं. Tablet एक Primary Input Device के रूप में काम करता हैं जिसमे Touch Screen की भी सुविधा होती हैं.

वैसे तो अधिकतर टेबलेट टच स्क्रीन वाले होते हैं लेकिन कुछ फोल्ड आउट Keyboard के साथ भी आते हैं. शुरुआती टैबलेट को इस तरह से डिज़ाइन किया गया था कि उसे light pen से यूज किया जा सके लेकिन आज कल के टैबलेट को हाथ के टच से भी चलाया जा सकता हैं.

टैबलेट का आकार लैपटॉप से छोटा लेकिन स्मार्ट फोन से बड़ा होता हैं. ग्राफिक, प्रोग्रामिंग एप्लिकेशन, गेम और अन्य कार्यक्रमों को करने के लिए tablet का इस्तेमाल किया जाता हैं. Tablet के आकार में छोटे होने की वजह से इसे आसानी से बैकपैक या ब्रीफकेस में रखकर ले जाया जा सकता है.

5. स्मार्टफोन

smartphone PC

स्मार्टफोन भी पर्सनल कंप्यूटर का ही एक हिस्सा है. स्मार्टफोन एक ऐसा डिवाइस है जिससे हम किसी भी तरह का काम कर सकते हैं जैसे Email भेजने, डॉक्यूमेंट बनाना और वेब का इस्तेमाल भी कर सकते हैं.

इतना ही नहीं स्मार्टफोन से हाई क्वालटी गेम भी खेल सकते हैं लेकिन इसमें छोटी स्क्रीन के कारण इसमें वो मज़ा नहीं आता जो कंप्यूटर में गेम खेलने पर आता हैं. स्मार्टफोन के जरिए कोई भी एप्लीकेशन आसानी से चला सकते हैं. इसका सबसे ज्यादा इस्तेमाल फोन कॉल और वीडियो कॉल के लिए किया जाता है.

6. अल्ट्रा मोबाइल पीसी

Ultra Mobile PC

Ultra Mobile PC, टैबलेट कंप्यूटर का ही एक छोटा वर्जन है. इस तरह के कंप्यूटर को अधिकतर Microsoft, Intel और Samsung कंपनी के द्वारा मनाया जाता है. वर्तमान समय में Windows XP, Windows VISTA, Windows 7 या Linux operating system और Low-Voltage Intel Atom या CIA C7-M Processor का इस्तेमाल Ultra Mobile PC के रूप में किया जाता हैं.

7. पॉकेट पीसी

Pocket PC

माइक्रोसॉफ्ट कंपनी ने हाल ही में एक नया Hardware Design बनाया हैं जिसका इस्तेमाल computing के लिए किया जाता हैं. Pocket PC एक छोटे size का Handheld Device है. यह pocket PC भी run करने के लिए Windows Mobile Operating System का इस्तेमाल करता हैं.

निष्कर्ष

साथियों आज की इस पोस्ट में आपने पर्सनल कंप्यूटर के प्रकार को विस्तार से जाना. हमें आशा है यह पोस्ट आपके लिए फायदेमंद साबित होगी तो इसको शेयर करना ना भूलें.

Previous articleअनुप्रयोग के आधार पर कंप्यूटर के प्रकार
Next articleउद्देश्य के आधार पर कंप्यूटर के प्रकार
में एक कंप्यूटर टीचर हूँ और कंप्यूटर साइंस में मास्टर डिग्री किया हुआ है. मुझे टेक्नोलॉजी से संबंधित चीजें बहुत ही दिलचस्प लगता है. इसी कंप्यूटर एडिशन ब्लॉग के जरिये में कंप्यूटर कोर्स को सरल तरीको से समझाने की कोसिस करती हूँ.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here