क्या आप जानते है के सिस्टम सॉफ्टवेयर क्या है? सामान्य तौर पर हम सभी कंप्यूटर का कार्य करते हैं। देखा भी जाता है कि कंप्यूटर का काम करने से समय की बचत होती है साथ ही साथ हमारा काम आसानी से पूरा हो जाता है। जब भी हम कंप्यूटर पर काम करते हैं तो हमें कई प्रकार के तकनीकी ज्ञान के बारे में जानकारी नहीं होती।

अगर आपको तकनीकी ज्ञान के बारे में सही जानकारी होती है, तो आप अपने काम को और भी अच्छे से कर सकते हैं। इस कड़ी में एक नाम जुड़ता है जिसे सिस्टम सॉफ्टवेयर कहा जाता है। सामान्य रूप से लोगों को इसके बारे में सही जानकारी प्राप्त नहीं होती लेकिन आज हम आपको सिस्टम सॉफ्टवेयर से संबंधित सारी जानकारी देने वाले हैं।

सिस्टम सॉफ्टवेयर की परिभाषा?

सिस्टम सॉफ्टवेयर वह सॉफ्टवेयर है जो कंप्यूटर सिस्टम का प्रबंधन और नियंत्रण करता है। इसे ऑपरेटिंग सिस्टम (OS) या एप्लिकेशन सॉफ्टवेयर के रूप में वर्गीकृत किया जा सकता है।

system software kya hai hindi

ऑपरेटिंग सिस्टम मुख्य रूप से कंप्यूटर के संसाधनों के प्रबंधन और परिधीय उपकरणों जैसे कीबोर्ड, माउस, प्रिंटर आदि के साथ इसकी बातचीत के लिए जिम्मेदार हैं।

एप्लिकेशन सॉफ्टवेयर वह है जिसका उपयोग हम वर्ड प्रोसेसिंग, ईमेलिंग, ब्राउजिंग आदि कार्यों को करने के लिए करते हैं। सिस्टम सॉफ्टवेयर में ऑपरेटिंग सिस्टम और एप्लिकेशन सॉफ्टवेयर दोनों शामिल हैं।

अगर आप गहराई से अध्ययन करेंगे तो पता चलता है कि किसी भी कंप्यूटर में कई सारे सिस्टम सॉफ्टवेयर हो सकते हैं, जो किसी भी एप्लीकेशन को सही तरीके से मैनेज करते हुए कार्य को आगे बढ़ाते हैं। हम ऐसा भी कह सकते हैं कि सिस्टम सॉफ्टवेयर के माध्यम से हार्डवेयर और एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर को सही तरीके से कंट्रोल किया जा सकता है।

सिस्टम सॉफ्टवेयर के प्रकार

जैसा कि हमने आपको पहले बताया कि किसी भी कंप्यूटर में कई प्रकार के सिस्टम सॉफ्टवेयर हो सकते हैं आज हम आपको विस्तृत से इनके बारे में जानकारी देंगे।

1. ऑपरेटिंग सिस्टम (Operating System)

यह सिस्टम सॉफ्टवेयर का मुख्य प्रकार होता है जो हार्डवेयर डिवाइस और सॉफ्टवेयर को एक साथ मैनेज करने का काम करता है। जब भी आप कंप्यूटर को बहुत देर के बाद ऑन करते हैं, तो सबसे पहले जो भी प्रोग्राम लोड होता है वह ऑपरेटिंग सिस्टम होता है जिसे सामान्य रूप से OS कहा जाता है। ऑपरेटिंग सिस्टम के कुछ उदाहरण के रूप में एंड्रॉयड विंडोज, लिनक्स IOS होते हैं।

2. फर्मवेयर (Firmware)

यह भी एक प्रकार का सॉफ्टवेयर है, जो सिस्टम सॉफ्टवेयर के प्रकार के रूप में जाना जाता है जिसे ROM मैं एंबेडेड किया जा सकता है। जितने भी काम हार्डवेयर के द्वारा होती है उन सभी एक्टिविटी को कंट्रोल करने का काम सिस्टम सॉफ्टवेयर करता है और यह हमेशा हार्डवेयर डिवाइस के साथ इंटरेक्ट करते हुए इंफॉर्मेशन को आगे बढ़ाता है।

3. अनुवादक (Translator)

सामान्य तौर पर देखा जाता है कि कंप्यूटर पर हम जब भी कुछ ऐड करते हैं, तो वह सिर्फ मशीन की भाषा को समझ पाता है। ऐसे में ट्रांसलेटर हमेशा हाई लेवल लैंग्वेज को मशीन लैंग्वेज में ट्रांसलेट करने का काम करता है और यह सिस्टम सॉफ्टवेयर का बहुत अच्छा प्रकार माना जाता है। अनुवादक (Translator) हमेशा तीन प्रकार के होते हैं जिन्हें अलग-अलग तरीके से डिजाइन किया गया है। इन तीन प्रकारों में मुख्य रूप से Compiler, Assembler, Interpreter शामिल होते हैं।

4. डिवाइस ड्राइवर (Device Driver)

इन्हें भी सिस्टम सॉफ्टवेयर के प्रकार के रूप में जाना जाता है, जो कंप्यूटर डिवाइस और कंप्यूटर से बाहर लगने वाले उपकरण को सही तरीके से इस काबिल बनाता है कि वे अपने काम को आगे बढ़ा सके। डिवाइस ड्राइवर के माध्यम से ही कोई भी कंप्यूटर आसानी से ही कंपोनेंट और एक्सटर्नल डिवाइस के माध्यम से सही तरीके से काम कर पाता है।

सिस्टम सॉफ्टवेयर के मुख्य तथ्य

जैसा कि हम सभी को पता है सिस्टम सॉफ्टवेयर हमेशा हमारे काम आता है और जब भी हम कंप्यूटर पर काम करते हैं, तो इसके माध्यम से ही हम सही तरीके से काम को कर पाते हैं लेकिन सिस्टम सॉफ्टवेयर किसी इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस को इस तरीके से मैनेज करता है जिससे हम अपने कंप्यूटर के माध्यम से सही तरीके से कार्य कर पाते हैं।

सिस्टम सॉफ्टवेयर किसी भी मशीनी भाषा को समझने के लिए पर्याप्त होता है जिसके माध्यम से हम अपनी जानकारी हासिल कर सकते हैं और मशीन भाषा के बारे में भी जानकारी ले सकते हैं।

सिस्टम सॉफ्टवेयर के मुख्य उदाहरण

ऐसे तो हम सभी ने सिस्टम सॉफ्टवेयर का नाम सुना ही है लेकिन इसके मुख्य उदाहरण के रूप में फर्मवेयर, ऑपरेटिंग सिस्टम, यूटिलिटी सॉफ्टवेयर, डिवाइस ड्राइवर होते हैं जो सभी सॉफ्टवेयर कंप्यूटर को मैनेज करने का काम करते हैं साथ ही साथ उन्हें कंट्रोल भी करते हैं।

सिस्टम सॉफ्टवेयर का मुख्य उदाहरण क्या है?

ऑपरेटिंग सिस्टम को सिस्टम सॉफ्टवेयर के उदाहरण के रूप में जाना जाता है। जिसकी मदद से कई सारे कार्यों को आसान किया जाता है।

सिस्टम सॉफ्टवेयर के प्रकार कौन-कौन से हैं?

सिस्टम सॉफ्टवेयर के मुख्य प्रकारों में फर्मवेयर, ऑपरेटिंग सिस्टम, यूटिलिटी सॉफ्टवेयर, डिवाइस ड्राइवर होते हैं जो हमेशा सॉफ्टवेयर और हार्डवेयर को मैनेज करने का काम करते हैं और उन्हें कंट्रोल करते हुए हमारे काम को आसान बनाते हैं।

ऑपरेटिंग सिस्टम को शॉर्ट फॉर्म में क्या कहते हैं?

OS

निष्कर्ष

इस प्रकार से आज हमने आपको सिस्टम सॉफ्टवेयर क्या है के बारे में जानकारी दी है जो निश्चित रूप से ही आपके काम आएंगी। कई बार ऐसा होता है कि हमारा ध्यान इस तरफ नहीं जाता और हम सही जानकारी प्राप्त नहीं कर पाते ऐसे में हमारे इस लेख के माध्यम से आप सिस्टम सॉफ्टवेयर के बारे में सही जानकारी प्राप्त कर पाएंगे, जो आपके काम की नया होंगी।

उम्मीद करते हैं आपको हमारे द्वारा लिखा गया यह लेख पसंद आएगा इसे ज्यादा से ज्यादा शेयर करें और इस लेख को अंत तक पढ़ने के लिए बहुत-बहुत धन्यवाद।

Previous articleलैपटॉप में नया सॉफ्टवेयर कैसे डाउनलोड करे?
Next articleकंप्यूटर का फुल फॉर्म क्या है?
कंप्यूटर एडिशन की संपादकीय टीम आपको सरल भाषा में कंप्यूटर से संबधित सभी साधारण जानकारी सहित ज्ञान कौशल की तालीम प्रदान करती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here