सरल शब्दों में समझें तो कंप्यूटर बिजली से चलने वाला एक ऐसा उपकरण होता है जो किसी भी प्रकार की जानकारी, डाटा को manipulate (हेर-फर) करता है.

कंप्यूटर किसी भी प्रकार के डाटा को Store, Retrieve एवं प्रोसेस करने में सक्षम होता है. विभिन्न संस्थाएं या व्यक्तिगत रूप से कंप्यूटर का उपयोग विभिन्न कार्यों के लिए किया जा सकता है.

जैसा कि आप जानते होंगे अपने दैनिक जीवन में आप कंप्यूटर का इस्तेमाल विभिन्न tasks को करने हेतु जैसे कि Mail भेजने, डाक्यूमेंट्स Create करने files create और share करने इत्यादि विभिन्न कार्यों के लिए करते हैं.

कंप्यूटर विभिन्न प्रकार के होते हैं इसके प्रकार के अनुसार इसके कार्य करने की क्षमता का भी विभाजन होता है.

कंप्यूटर किसे कहते हैं जानने के साथ साथ आपको बेसिक कंप्यूटर की जानकारी होना जरुरी है. चलिए कंप्यूटर के अन्य हिस्सों के बारे में जानते है.

computer kya hai hindi

कंप्यूटर के भाग और उनके कार्य

आपने कभी सोचा है कंप्यूटर नामक यह मशीन इतनी सारी कार्यों को करने में कैसे सक्षम होती है? यदि नहीं, तो इसे समझने के लिए आपको कंप्यूटर को चलाने के लिए आवश्यक दो मुख्य भाग (हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर) इन दोनों भागों बारे में जानना आवश्यक है. उससे पहले आपको एक बार कंप्यूटर का आविष्कार किसने किया जरुरी है.

1. हार्डवेयर

हार्डवेयर आपके कंप्यूटर का वह भागबया हिस्सा होता है जिसे आप छू सकते हैं जैसे कि कीबोर्ड माउस इत्यादि के साथ साथ कंप्यूटर मैं मौजूद कुछ आंतरिक हार्डवेयर पार्ट्स भी होते हैं जैसे RAM, ROM, CPU यह सभी कंप्यूटर को सुचारू रूप से चलाने के लिए आवश्यक होते हैं.

2. सॉफ्टवेयर

कंप्यूटर का वह भाग जिसे हम छू नहीं सकते परंतु देख सकते हैं. हार्डवेयर की तरह ही कंप्यूटर को चलाने के लिए यह अत्यंत आवश्यक भाग होता है. जो हार्डवेयर को यह निर्देश देता है कि कब क्या करना है. आप जो कंप्यूटर पर Games खेलते हैं वीडियोस देखते हैं या फिर किसी भी अन्य प्रकार के एप्लीकेशन को ओपन करते हैं वह कंप्यूटर का सॉफ्टवेयर ही होता है.

संक्षेप में कहा जाए तो हार्डवेयर सॉफ्टवेयर यह दोनों जब आपस में मिलकर सुचारू रूप से कार्य करते हैं तो एक मनुष्य कंप्यूटर को ऑपरेट कर पाता है. उदाहरण के तौर पर यदि आप इस जानकारी को कंप्यूटर पर पढ़ रहे हैं तो आपके पास जो कीबोर्ड (Hardware) टाइपिंग करने के लिए वही ब्राउज़र एक सॉफ्टवेयर है.

कंप्यूटर का फुल फॉर्म

C – Commonly
O – Operated
M – Machine
P – Particularly
U – Used in
T – Technical and
E – Educational
R – Research

कंप्यूटर शब्द का हिंदी अर्थ संगणक होता है.

कंप्यूटर की विशेषताएं

कंप्यूटर की कुछ विशेषताएं हैं जिनकी वजह से घरों से लेकर offices तक हर जगह हमें आज कंप्यूटर का उपयोग आसानी से देखने को मिलता है कंप्यूटर की मुख्य विशेषताएं निम्नलिखित हैं.

स्पीड

मनुष्य की तुलना में कंप्यूटर के कार्य करने की शक्ति कई गुना अधिक होती है. एक कंप्यूटर के पास लाखों निर्देशों को Seconds में प्रोसेस करने जितनी क्षमता होती है.

शुद्धता

यह दूसरा सबसे अहम कारण है जिसकी वजह से इसका इस्तेमाल होता है. किसी कार्य, टास्क को पूरा करने में मनुष्य के गलती होने की संभावनाएं बनी रहती है वही कंप्यूटर इस मामले में शत प्रतिशत Accurate होता है.

लगन (Diligence)

अनेक tasks को तीव्र गति के साथ साथ Consistency के साथ पूरा करता है अतः मनुष्य के दिमाग की तुलना में बिना थके कई घंटे आसानी से बिना डिस्टर्ब हुए यह काम कर सकता ह.

विश्वसनीयता

कंप्यूटर नामक यह मशीन भरोसेमंद है. यह एक ही प्रकार के डाटा को बार बार same Result प्रदान करता है उदाहरण के तौर पर यदि हम कीबोर्ड से कोई key बार-बार दबाते हैं तो हमें वही same रिजल्ट प्राप्त होता है.

स्वचालन

कंप्यूटर की तीव्र गति से Tasks को Perform करने का मुख्य कारण है ऑटोमेशन| कंप्यूटर का उपयोग करते हुए व्यक्ति बिना मैनुअल एक्शन के कई कार्यो को आसानी से पूरा कर पाता है.

मेमोरी

मनुष्य के दिमाग की भांति कंप्यूटर में भी built-in memory होती है जहां पर कंप्यूटर का सारा डाटा स्टोर होता है इसे प्राइमरी मेमोरी नाम से भी जाना जाता है. आवश्यकता पड़ने पर कंप्यूटर की मेमोरी को सेकेंडरी स्टोरेज डिवाइस जैसे पेन ड्राइव की मदद से इसका विस्तार किया जा सकता है.

कंप्यूटर कैसे कार्य करता है

जब आप अपने कंप्यूटर के mouse से एक Click भी करते हैं तो पलक झपकते ही हमें उसका परिणाम स्क्रीन पर देखने को मिलता है तो आखिरी यह कंप्यूटर कैसे कार्य करता है इसे समझने का प्रयास करते हैं.

कंप्यूटर को किसी भी प्रकार के कार्य को करने के लिए डाटा चाहिए होता है यह डाटा कंप्यूटर उपयोगकर्ता द्वारा को किसी input device जैसे keyboard और mouse से प्राप्त होता है.

डाटा प्राप्त होने के बाद कंप्यूटर उस डाटा को प्रोसेस करता है उसके बाद उसका परिणाम आपको किसी आउटपुट डिवाइस जैसे कि Monitor दिखाता है.

कंप्यूटर के डाटा प्रोसेस करने की इस प्रक्रिया में कंप्यूटर के विभिन्न parts उसकी सहायता करते हैं.

जब कंप्यूटर डाटा प्राप्त करता है तो CPU तथा Motherboard से जुड़े अन्य कॉम्पोनेंट्स जैसे Processor, Ram Hard Disk के साथ कंप्यूटर में उस डाटा को प्रोसेस किया जाता है.

अतः कंप्यूटर के कार्य करने के लिए इन दोनों भागों की अत्यंत आवश्यकता होती है जो है हार्डवेयर एवं सॉफ्टवेयर.

कंप्यूटर क्या है की जानकारी कैसा लगा?

उम्मीद है के आपको कंप्यूटर क्या है, इसकी विशेषताएं और कैसे काम करता है पसंद आया होगा. अगर आपको यह जानकारी पसंद आये तो इस लेखो को अपने दोस्तों के साथ शेयर करना ना भूलें. इसके साथ साथ आप हमारे साथ हमारे सोशल मीडिया से भी जुड़ सकते है.

Next articleकंप्यूटर का आविष्कार किसने किया?
में एक कंप्यूटर टीचर हूँ और कंप्यूटर साइंस में मास्टर डिग्री किया हुआ है. मुझे टेक्नोलॉजी से संबंधित चीजें बहुत ही दिलचस्प लगता है. इसी कंप्यूटर एडिशन ब्लॉग के जरिये में कंप्यूटर कोर्स को सरल तरीको से समझाने की कोसिस करती हूँ.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here